Normal view MARC view ISBD view

ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना, 2007-2012 /

By: भारत. योजना आयोग.
Material type: materialTypeLabelBookPublisher: नई दिल्ली : ऑक्सफोर्ड यूनिवरसिटि प्रेस, 2008Description: 3 v. : ill. ; 28 cm.Content type: text Media type: unmediated Carrier type: volumeISBN: (pbk.).Other title: 11th five year plan 2007-2012.Subject(s): India -- Economic policy -- 21st century | भारत -- आर्थिक नीति -- 21 वीं सदी | India -- Economic policy -- 21st century -- Statistics | भारत -- आर्थिक नीति -- 21 वीं सदी -- सांख्यिकी | India -- Economic conditions -- 21st century -- Statistics | भारत -- आर्थिक स्थितियां -- 21 वीं सदी -- सांख्यिकी | India -- Social policy -- 21st century -- Statistics | भारत -- सामाजिक नीति -- 21 वीं सदी -- सांख्यिकी | Eleventh five year plan 2007-2012DDC classification: 338.954009051 ELE Online resources: For full text click here Summary: वर्तमान मे भारत मे ग्यारहवी पंचवर्षीय योजना की समयावधि 1 अप्रैल 2007 से 31 मार्च 2012 तक है। योजना आयोग द्वारा राज्य की पंचवर्षीय योजना का कुल बजट 71731.98 करोड रुपये अनुमोदित किया गया है। यह उदव्य 10 वी योजना से 39900.23 करोड़ ज्यादा है। कृषि वृद्धि दर : 3.5% उद्योग वृद्धि दर : 8% सेवा वृद्धि दर : 8.9% घरेलू उत्पाद वृद्धि दर : 8%
Tags from this library: No tags from this library for this title. Log in to add tags.
    average rating: 0.0 (0 votes)
Item type Current location Collection Call number Status Date due Barcode
Book Book Indian Institute for Human Settlements, Bangalore
Planning Commission 338.954009051 ELE 006996 (Browse shelf) Available 006996
Book Book Indian Institute for Human Settlements, Bangalore
Planning Commission 338.954009051 ELE 006997 (Browse shelf) Available 006997

वर्तमान मे भारत मे ग्यारहवी पंचवर्षीय योजना की समयावधि 1 अप्रैल 2007 से 31 मार्च 2012 तक है। योजना आयोग द्वारा राज्य की पंचवर्षीय योजना का कुल बजट 71731.98 करोड रुपये अनुमोदित किया गया है। यह उदव्य 10 वी योजना से 39900.23 करोड़ ज्यादा है। कृषि वृद्धि दर : 3.5% उद्योग वृद्धि दर : 8% सेवा वृद्धि दर : 8.9% घरेलू उत्पाद वृद्धि दर : 8%

There are no comments for this item.

Log in to your account to post a comment.
Hit Counter
//]]>